Firewall क्या है | किस लिए इस्तेमाल होता है

हेलो दोस्तों आज आप इस लेख में पड़ेगे Firewall Kya Hai क्या होता है कैसे काम करता है। और Firewall कितने प्रकार की होते हैं। कंप्यूटर नेट्वर्क में फ़ायरवॉल क्या होता है। आप फ़ायरवॉल की पूरी जानकारी तफसिर से इस लेख से प्राप्त करोगे। 


दोस्तों आज इंटरनेट यूजर की तेज़ि से बढ़ोतरी हो रही है। और हर वयक्ति किसी न किसी तरह से इंटरनेट से कनेक्ट है। अब ऐसे में यहाँ खतरे भी बहुत होते हैं।


जैसे Attacker के द्वारा इंटरनेट पे हमारी जानकरी का गलत उपयोग और blackmalling करना जैसे खतरे हमारे साथ होते हैं। अब इन खतरों से कैसे बचे? ऐसे खतरों से बचने का रास्ता है। फ़ायरवॉल Firewall Kya Hota What is Firewall in Hindi. 


ये आपके नेट्वर्क में सिक्योरिटी देने का काम करता है। Network Firewall Security में Confidentiality और Integrity जैसे मजबूत तन्त्र होते हैं। जो किसी भी इंटरनेट नेट्वर्क Hackers से बचा ने की लिए काफी होते हैं। 


लेकिन firewall ke Types भी अलग अलग होते हैं। जिनको समझना बेहद जरूरी है। तो चलिए Firewall ki jankari को आगे बढ़ाते हैं।




फ़ायरवॉल क्या है | What Is Firewall In Hindi 


Firewall एक नेट्वर्क सिक्योरिटी डिवाइस है। जो आपके नेट्वर्क पर आने और जाने वाले ट्रैफिक पर नज़र रखता है। ये एक सॉफ्टवेयर होता है। जिसको firmware programming करके बनाया गया है। और ये सॉफ्टवेयर आपके नेट्वर्क में जो भी ट्रैफिक का आदान प्रदान हो रहा है। इसपे ये खास नज़र रखता है।


firewall आपके Nonovalatile memory में लिखी होती हैं। यहाँ से ही सभी नियम को लागु करने और किस Data Packets को network में इंटर करने दे और किसे नहीं ये सब यहाँ से Operate होता है।


यानि firewall का मतलब बिल्कुल सिंपल है ये नेट्वर्क पर आ रही अँधाढूंढ ट्रैफिक को फ़िल्टर करके नेट्वर्क मे प्रवेश करने देता है। और Malicious दुर्भावनापूर्ण Data Packet को इंटर नहीं करने देता है। आप फ़ायरवॉल Stand alone software application भी खरीद सकते हैं। 



इसे पड़े  Multimedia Kya Hai | इसकी परिभाषा और लाभ हानि 


फ़ायरवॉल कितने प्रकार के होते हैं। Firewall Ke Types in hindi 


यहाँ firewall के सभी types और इनके फायदे और नुकसान नीचे बताए गए हैं। आप फ़ायरवॉल को अपने कंप्यूटर सिस्टम में लगाना चाहते हैं। तो फ़ायरवॉल के बारे में besics जानकारी और इसके लाभ और हानि का पता होना बहुत ज़रूरी है। 


तभी हम अपने सिस्टम को बेहतर तरीके से operate कर सकते हैं। तो चलिए firewall Ke Types kya Hai और इसके एडवांटेज और डिसएडवांटेज को जानते हैं। 




1. Packet Filtering Firewall 


पैकेट फ़ायरवॉल को अक्सर छोटे सिस्टम के लिए इस्तेमाल होता है। और इसी के लिए ये बेस्ट माने जाते हैं। फ़ायरवॉल के इस टाइप्स में IP Address Protocols को port के आधार पर पास या फेल करने हेतु Network Access को Control करने के लिए किया जता है। इस डाटा पैकेट में हेडर होता है। 



Packet Filtering Firewall ke advantage


• इस प्रकार का फ़ायरवॉल उपकरण पूरे ट्रैफिक को आसानी से फ़िल्टर कर सकता है। 


• ये ट्रैफिक को स्कैन करने में बहुत तेज कुशल और सस्ते होते है। 




Packet Filtering Firewall ke disadvantage


• पैकेट फ़िल्टरिंग फ़ायरवॉल पूरी तरह से IP address और Port information पर आधारित होता है अब ऐसे में यह Payload को चेक नहीं करता इसको चेक करने के लिए ये दूसरे types के firewall को चेक करने की लिए सूचित करता है। ऐसे में यह हर नेट्वर्क के लिए आइडियल ऑप्शन नहीं है।


• एक्सेस कण्ट्रोल लिस्ट को सेट अप और मैनेज करना थोड़ा कठिन होता है। पैकेट फ़िल्टरिंग फ़ायरवॉल हर एक उपयोग के लिए सुरक्षा नहीं दे सकता ह।




2. Application-level gateway


application level gateway firewall एक प्रकार का proxy server है। जो आपके कंप्यूटर में मौजूद application को proxy प्रदान करता है। इसी कारण से इसको Application Proxy भी कहते हैं। ये एप्लीकेशन के द्वारा भेजी गई सुचना के आधार पर Packet में उपलब्ध data को आपने अंदर से गुज़र ने देता है।  





3. Next-generation firewall



Next Gen firewall. Signature Based Engine की तरह काम करता है। जिसमें encroachment की संभावना नहीं होती हैं। इस types का firewall बेहतर Capiblity और उन्नत के साथ आपके कंप्यूटर नेट्वर्क को सुरक्षित करता है। और इसमें नए नए सुपर तरीको के साथ सिक्योरिटी को मजबूत करने की कोशिश करता है। 




4. Stateful inspection firewall


ये हर एक प्रत्येक पैकेट को analyze करके फ़िल्टर कर देने के आलावा उसी पैकेट को ट्रैक भी करते हैं। के ये पैकेट किस TCP या किस Network का हिस्सा है या नहीं। इसे State aware device भी कहा जाता है। ये single Packet filtering या Circuit Monitoring की Comparison में अधिक सिक्योरिटी प्रदान करते हैं। 



Stateful inspection firewall Ke advantage


• Network Connection के मामले में पूरे session की निगरानी करता है। 


• ये अधिक सुरक्षा के लिए Payload और IP Address को चेक करता है। 


• Network के अंदर और बाहर कौनसी सामग्री आने दी जाए। इस पर ये High Level Control प्रदान करता है


• ट्रैफिक को अंदर और बाहर जाने के लिए सभी पोर्ट खोलने की जरूरत नहीं पड़ती है




Stateful inspection firewall ke disadvantage


• दूसरे फ़ायरवॉल के type और तुलना में यह अधिक महँगा होता है। 



इसे पड़े  Recycle bin क्या है इसकी आवश्यकता क्यों है

5. Circuit level Gateway


इस सर्किट लेवल गेटवे फ़ायरवॉल के प्रकार का काम Malicious content को पहचानना है। ये Session layer में काम करता है। जो OSI Model में रहती हैं।  Circuit level Gateway आपके सिस्टम को TCP   ( Transmission Control Protoco ) और UDP ( User Datagram Protocol ) की सुरक्षा मुहिया कराता है। 




Circuit level Gateway firewall ke advantage


• इसे सेटअप करना और मैनेज करना आसान है। 


• Requested transaction की प्रक्रिया करता है


• सर्किट लेवल गेटवे पैकेट फ़िल्टरिंग फ़ायरवॉल की तुलना में उच्च स्तरीय सिक्योरिटी प्रदान करते हैं। 




Circuit level Gateway firewall ke disadvantage


• सिक्योरिटी टेक्नोलॉजी में इसका उपयोग नहीं कर सकते हैं। 


• फ़ायरवॉल के करीब टूल्स से data Recieve हो इसकी कोई सुरक्षा नहीं करता है। 





फ़ायरवॉल कैसे काम करता है | How does a Firewall work in Hindi


फ़ायरवॉल का हिंदी अर्थ सुरक्षा दिवार होता है। ये पब्लिक और प्राइवेट नेट्वर्क के बीच दिवार का काम करता है। जो दोनों तरफ से नेट्वर्क को वायरस और खतरनाक चिज़ो से सुरक्षा प्रदान करता है. 


firewall आपके द्वारा नेट्वर्क पर सेट किये गए नियम के आधार पर आपके नेट्वर्क या वेबसाइट पर आने वाले ट्रैफिक का सावधानीपूर्वक विश्लेषण करता है। और Unsecured प्लेटफार्म से आ रहे ट्रैफिक को फ़िल्टर करता है। 




फायरवॉल के फायदे | Firewall Ke advantage



• ट्रैफिक पर नज़र रखता है


कंप्यूटर में फ़ायरवॉल के इस्तेमाल से जितना भी ट्रैफिक कंप्यूटर में आ रहा है या जा रहा है उस पे ध्यान रखने के काम फ़ायरवॉल करता है और इन्हें शुद्ध करके अंदर आने की अनुमति देता है।


जिस data packet से data या कोई message या सुचना भेजते हैं तो सबसे पहले फ़ायरवॉल इसे check करता है। और इसपे में वह खतरनाक जानकारी या ऐसा कोई data देखता है। जिससे कंप्यूटर को नुकसान पहुँच सकता है। तो वह इसे वहीं block कर देता है रोक देता है।



• वायरस को खत्म करता है


trojan नामक वायरस कंप्यूटर की लिए बहुत Dangerous होता है कंप्यूटर में आपकी फाइल जहां store होती हैं ये वहां रहता है। ये आपके कंप्यूटर की मदद से आपके वेब सर्वर पर पहुँचते हैं और इसे कमज़ोर करते है। ये आपके सर्वर में पहुँच जाए तब तो बहुत देर हो चुकी होती हैं। ये बहुत खराबी कर देते हैं। अब ऐसे में फ़ायरवॉल इन सभी को कंप्यूटर में पाये जाने पर ही ब्लॉक कर देता है। फ़ायरवॉल हर एक छोटे या बड़े  वायरस को पनपने से पहले ही खत्म कर देता 





फ़ायरवॉल के नुकसान | firewall ke disadvantage



• फ़ायरवॉल महँगा होता है


फ़ायरवॉल को अपने सिस्टम में लगाना महँगा पढ़ता है। खासकर हार्डवेयर फ़ायरवॉल बेहद costly पढ़ते है। 



• कॉम्प्लेक्स ऑपरेशन 


complex firewall small business के लिए ठीक होता है। पर यह बड़े बिज़नेस की लिए ठीक नहीं होता है। ऐसा क्यों complex firewall को हैंडल करने के लिए कंपनी को अलग से वर्कर रखने की आवश्यकता पड़ती है।जो कंपनी के लिए बिल्क़ुल भी Comfortable नहीं होता है। 


फ़ायरवॉल का मुख्या काम unathurized access को रोकना है अब ऐसे में बड़ी कम्पनियां जो अपने नियम को बेहद सख्त रखे वहां उसकी growt करने ने थोड़ी समस्या होती है। 



• मॉलवियर अटैक


वैसे तो Firewall computer और Network को हर तरह के वायरस और अटैक से बचाता है लेकिन कुछ ऐसे होते हैं। जिनको खत्म करने की इसमें ताकत नहीं होती हैं। ऐसा ही Malware attack होता है जिनको रोकने की फ़ायरवॉल में क्षमता नहीं होती है। और इसको हटाने के anti malware scan करने की जरूरत पढ़ जाती है। 





छोटे बिज़नेस की फ़ायरवॉल से सुरक्षा कैसे करें |  Small business firewall in Hindi


• अक्सर छोटे और बड़े कॉर्पोरेशन नेटवर्क की सुरक्षा करने के लिए Complex Firewall Use होते हैं अगर आप इन्हें उपयोग करे तो स्माल बिज़नेस में फ़ायरवॉल काफी स्ट्रांग हो जाता है


• अपने employees के लिये जो विशेष इमेल भेजने के Firewall Configuration करें।


• अपने firewall configure को उच्च आईटी विशेषज्ञ के द्वारा संभाले। 





फ़ायरवॉल कैसे उपयोग करें | Firewall Kaise Use Kare


फ़ायरवॉल को मोबाइल में कैसे इस्तेमाल करे सबसे पहले तो आपको Google Play Store से noRoot Firewall नाम की android firewall एप्लीकेशन डाउनलोड करनी है। इसको इनस्टॉल करें और Start button पे क्लिक करें। इसके बाद सारे ऑप्शन open हो जाएंगे। अब यह जिस भी ऐप पर फ़ायरवॉल अप्लाई करना चाहते हैं तो उसपे क्लिक।


जैसे आप Pubg mobile सेलेक्ट करते है तोआपके सामने Custom Filter का ऑप्शन दिखाई देगा इसपे क्लिक करें। और यहाँ दो ऑप्शन खुलकर आएंगे Address और Port एड्रेस में * डाले और पोर्ट में अपने हिसाब से डाले जैसे बहुत से केसेस में 80 डाला जाता है। 




फ़ायरवॉल कहा से खरीदे | Top Firewall providers companies in Hindi


कंप्यूटर में फ़ायरवॉल इस्तेमाल करने की लिए फ़ायरवॉल कहा से खरीदे। Trusted Company की Firewall Service चुने। यहाँ नीचे Best firewall compony latest 2021 की लिस्ट दे रखी है। 


जो के top trusted providers company है। आपको उन कंपनी से फ़ायरवॉल खरीदना चाहिए जो एक भरोसे मंद हो। यहाँ सभी अच्छे फ़ायरवॉल बुय कंपनी है। जिनमें किसी से भी फ़ायरवॉल खरीद सकते हैं। 



1.- Cisco ASA 
2. Palo Alto Network NG Firewall
3. Forti Gate
4. Checkpoint firewall
5. Juniper SRX
6.  PfSense
7. Cyberoam
8. McAfee
9. Fortinet firewall
10. Sophos firewall





Firewall FAQ In Hindi | फ़ायरवॉल से सम्बंधित अक्सर पूछे जाने वाले सवालात 



कंप्यूटर सिस्टम में अंधीकूत प्रवेश को कौन रोकता है।


ये फ़ायरवॉल ही होता है जो नेट्वर्क में घुस रहा अंधीकूत ट्रैफिक रोकता है इन्हें फ़िल्टर करता है। और फिर इन्हें अंदर जाने देता है। ताके Attackers से बचा जा सके। 



सुरक्षा मुद्दे के संबंध में फ़ायरवॉल और एंटीवायरस की क्या भूमिका है


फायरवॉल सॉफ्टवेयर  एंटीवायरस सॉफ्टवेयर से अलग होता है। लेकिन ये दोनों का काम बिल्क़ुल एक जैसा होता है। ये दोनों ही आपके कंप्यूटर को सुरक्षा प्रदान करते हैं। 


Firewall का काम न वाकिफ और न पसंदीदा ट्रैफिक को अंदर आने से रोकना है। 


और Antivirus का काम डिवाइस में मौजूद वायरस को खत्म करना और जो वायरस घुसने का प्रयास कर रहे है उन्हें रोकना है। 


इसे पड़े  Whatsapp का इस्तेमाल करके पैसा कैसे कमाए 2021


इसे पड़े  ब्लॉगिंग से पैसे कमाने के तरीके | Blogging se paise kaise  kamaye 


इस लेख पर आखरी बात


दोस्तो आप को ये पोस्ट Firewall Kya Hota Hai इसके प्रकार और ये काम कैसे करता है  इसके फायदे और नुकसान What is firewall Meaning in Hindi मे जानकारी कैसा लगी कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखें और इस पोस्ट को नीचे साइड में फेसबुक और ट्विटर के शेयर button की सहायता से शेयर ज़रूर करदे 

No comments:

Powered by Blogger.